सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्युचुअल फंड 2022, अच्छा रिटर्न देने वाले इक्विटी म्युचुअल फंड लार्ज कैप म्युचुअल फंड
सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले इक्विटी म्यूचुअल फंड

सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूचुअल फंड जो 2022 में निवेश के लिए अच्छा साबित हो सकता हैं। यदि म्यूचुअल फंड की सूची की बात की जाए तो बहुत से म्यूचुअल फंड हैं जो निवेशकों को अच्छा रिटर्न दे रहे हैं।
जो लोग स्टाॅक मार्किट या अन्य जगह पर सीधे तौर पर निवेश करना नहीं चाहते हैं उनके लिए म्यूचुअल फंड एक अच्छा विकल्प हैं।
बहुत सी म्यूचुअल फंड हैं जो निवेशकों के पैसे को विभिन्न प्रकार से निवेश करते हैं। इनमें रिटर्न का प्रतिशत भी अलग-अलग हो सकता हैं।
म्यूचुअल फंड की खास बात यह हैं कि निवेशकों को ज्यादा एनालिसिस या अन्य जानकारी इकट्ठा करने की आवश्यकता नहीं होती हैं। फंड मैनेजर निवेशकों की रकम को अलग अलग जगह निवेश करता हैं। क्योंकि फंड मैनेजर काफी अनुभवी व पूरी रिसर्च के बाद ही रकम को निवेश करते हैं। इसलिए म्यूचुअल फंड को रिटर्न पाने के लिए बहतर माना जाता हैं।
हालांकि म्यूचुअल फंड में भी जोखिम रहता हैं। फिर भी इसमें रिटर्न की संभावना अधिक रहती हैं।
इस पेज में हम लार्च कैप वाले इक्विटी म्यूचुअल फंड की बात करेंगे और जानेंगे कि कौन सा म्यूचुअल फंड कितना बहतर हैं।

एक्सिस ग्रोथ अपॉर्चुनिटी म्यूचुअल फंड

AUM5767 करोड़
Expence Ratio0.47%
Category Expence Ratio1.01%
Minimum SIP₹1000
Minimum Lumpsum Amount₹5000
Exit Loan1%
3 Year Return24.5%

यह एक लार्ज-मिड कैप म्यूचुअल फंड हैं जो भारत की टाॅप 250 कंपनियों के स्टाॅक में पैसा निवेश करता हैं। इस तरह के फंड में निवेश करने पर लार्ज कैप वाले फंड की तुलना में ज्यादा रिस्क रहता हैं जबकि फ्लैक्सी कैप म्यूचुअल फंड के मुकाबले कम रिस्क रहता हैं। इस म्यूचुअल फंड की खास बात यह भी है कि इसका पैसा भारतीय इक्विटी के अलावा विदेशी इक्विटी में भी निवेश किया जाता हैं। इसका लगभग 25 प्रतिशत पैसा विदेशी इक्विटी में निवेश किया जाता हैं। इसलिए आप इस फंड में निवेश करके विदेशी इक्विटी का फायदा उठा सकते हैं।
इसका अधिकतर फंड टेक्नोलॉजी, फाइनेंस, केमिकल, हैल्थकेयर से जुड़ी कंपनियों के स्टाॅक में लगा हैं।
कंपनियों के नाम की बात की जाए तो बजाज फाइनेंस, टाटा इलेक्सी, सुंदरम फाइनेंस, एनआईआईटी टेक्नोलॉजी, चोलामंडलम इन्वेस्ट आदि कंपनियों में पैसा लगा हुआ हैं।
विदेशी कंपनी जैसे- माइक्रोसॉफ्ट काॅर्पोरेशन, अमेजन, फेसबुक, एडोबे सिस्टम, नैशले आदि कंपनियों के स्टाॅक में निवेश किया हुआ हैं।
इस फंड का एल्फा रेश्यो 11.79 हैं जिसका मतलब फंड ने बेंचमार्क से अच्छा रिटर्न दिया हैं। फंड ने पिछले तीन साल में 25 प्रतिशत रिटर्न दिया हैं जो कैटेगरी एवरेज रिटर्न से काफी अच्छा हैं।

आइसीआईसीआई प्रूडेंशियल टेक्नोलॉजी फंड

Fund Size8184 करोड़
Expence Ratio0.81%
Category Expence Ratio1.05%
Minimum SIP₹100
Minimum Lumpsum Amount₹5000
Exit Loan1%
3 Year Return39%

यह फंड लार्च कैटेगरी का फंड हैं जो लगभग 90 प्रतिशत से अधिक रकम का निवेश इक्विटी में करता हैं। इसमें मिड कैप फंड की तुलना में कम रिस्क हैं। जिन लोगों को टेक्नोलॉजी व आईटी सेक्टर में ग्रोथ की संभावना नजर आ रही हैं उनके लिए यह फंड अच्छा विकल्प हो सकता हैं। क्योंकि इस फंड अधिकतर पैसा टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनियों के स्टाॅक में निवेशित हैं। लगभग 75 प्रतिशत फंड आईटी सेक्टर की कंपनियों के स्टाॅक में निवेश किया गया हैं। जबकि 5 प्रतिशत फंड टेलीकॉम सेक्टर में निवेश किया गया हैं।
इन्फोसिस लिमिटेड, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, टेक महिंद्रा, विप्रो लिमिटेड, भारती एयरटेल जैसी लार्च कैप वाली कंपनियों में अधिकतर फंड निवेश किया गया हैं।
इस फंड ने अपने निवेशकों को पिछले तीन साल में लगभग 39 प्रतिशत का रिटर्न दिया हैं। जबकि पिछले एक साल में 45% रिटर्न दिया हैं।
इस फंड में निवेश करने के लिए मिनिमम एसआईपी 1000 रूपए व एकमुश्त रकम 5000 रूपए हैं।

टाटा डिजिटल इंडिया फंड

Fund Size5157 करोड़
Expence Ratio0.36%
Category Expence Ratio0.87%
Minimum SIP₹150
Minimum Lumpsum Amount₹1000
Exit Loan0.25%
3 Year Return37%

यह भी एक लार्च साइज इक्विटी फंड हैं। इक्विटी फंड होने के कारण इसमें जोखिम ज्यादा हैं। इसके साथ ही इस फंड ने पिछले पांच साल में लगभग 33 प्रतिशत का रिटर्न दिया हैं जबकि पिछले तीन साल में 38 प्रतिशत का रिटर्न दिया हैं।
इस फंड ने लगभग 24 प्रतिशत रकम इन्फोसिस लिमिटेड में निवेश किया हुआ हैं। जबकि 10 प्रतिशत पैसा टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड के स्टाॅक में लगाया गया हैं। टेक महिंद्रा, एचसीएल टेक्नोलॉजीज में भी लगभग 15 प्रतिशत पैसा निवेश किया गया हैं।
इसके अलावा टेलीकॉम सेक्टर, कंस्ट्रंकसन एवं इंजीनियरिंग सेक्टर व अन्य कंपनियों के स्टाॅक में निवेश किया गया हैं। इस म्यूचुअल फंड में न्यूनतम एसआईपी 1000 रूपए व न्यूनतम एकमुश्त रकम 10000 से निवेश शुरू किया जा सकता हैं। इस फंड की एनएवी 40 रूपए तथा एयूूूूएम 5039 करोड रूपए हैं।

क्वांट इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड

Fund Size449 करोड़
Expence Ratio0.58%
Category Expence Ratio1.05%
Minimum SIP₹1000
Minimum Lumpsum Amount₹5000
Exit Loan0.50%
3 Year Return32%

इस फंड ने पिछले तीन साल में 32 प्रतिशत रिटर्न दिया हैं जबकि पिछले एक साल में 46 प्रतिशत रिटर्न दिया हैं। यह फंड भी इक्विटी बेस्ड फंड हैं इसमें अधिकतर फंड कंस्ट्रक्शन, सर्विस, केमिकल व फाइनेंस सेक्टर की कंपनियों के स्टाॅक में निवेश किया गया हैं। इसका फंड साइज 402 करोड़ का हैं। टाॅप दस स्टाॅक में लार्सन एंड टुब्रो, अडानी इंटरप्राइजेज, वेदांता लिमिटेड, IRB इंटरप्राइजेज, भारती एयरटेल, एचडीएफसी बैंक, एसबीआई बैंक आदि शामिल हैं। इस फंड का एक्सपेंस रेश्यो 0.58% हैं जो कैटेगरी रेश्यो की तुलना में काफी कम हैं। एक्सपेंस रेश्यो के लिहाज से यह फंड एक अच्छा विकल्प हो सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- कौन सी क्रिप्टोकरेंसी खरीदनी चाहिए? सबसे ज्यादा रिटर्न कौनसी क्रिप्टोकरेंसी ने दिया है?

आदित्य बिरला सन लाइफ डिजिटल इंडिया फंड

Fund Size3036 करोड़
Expence Ratio0.74%
Category Expence Ratio0.87%
Minimum SIP₹100
Minimum Lumpsum Amount₹1000
Exit Loan1%
3 Year Return37%

आदित्य बिड़ला सन लाइफ डिजिटल इंडिया फंड सेक्टरल / थीमेटिक फंड हैं। इस फंड का संचालन आदित्य बिड़ला ग्रुप व सन लाइफ फाइनेंशियल द्वारा किया जाता हैं। इस फंड का अधिकतर पैसा इक्विटी में निवेश किया गया हैं। टेक्नोलॉजी, सर्विसेज, फाइनेंस, कम्युनिकेशन सेक्टर में लगभग 95 प्रतिशत पैसा निवेश किया हुआ हैं। वहीं टेक्नोलॉजी सेक्टर की कंपनियों के स्टाॅक में 82 प्रतिशत निवेश किया गया हैं।
इस फंड ने पिछले तीन साल में 37 प्रतिशत व पिछले एक साल में 39 प्रतिशत रिटर्न दिया हैं। इसका फंड साइज 3036 करोड़ के आसपास हैं। फंड का एक्सपेंस रेश्यो 0.74% हैं तथा Exit Load 1 प्रतिशत हैं।

इसे भी पढ़ें- आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान, प्रीमियम, मेच्योरिटी फायदे एवं विशेषताएं

ज्यादा रिटर्न के लिए क्या करें?

अपने लिए बहतर फंड चुनें

नये निवेशकों के लिए फंड का चुनाव करना थोड़ा मुश्किल होता हैं। या कहें कि नये निवेशक बिना जरूरी जानकारी लिये ही अपना पैसा किसी भी फंड में निवेश कर देते हैं। जिसके कारण नुकसान होने की संभावना अधिक होती हैं। इसलिए अधिक फायदा पाने के लिए सबसे पहले अपने लिए एक बहतर फंड का चुनाव करें। जो आपके निवेश राशि, अवधि व जोखिम स्तर के लिए बहतर हों। फंड का चुनाव करने के लिए आप फंड के बारे में पूरी जानकारी जरूर लें अन्यथा अपने फाइनेंशियल एक्सपर्ट की सलाह लें सकते हैं।

अपना गोल (लक्ष्य) चुनें

यदि आपका कोई लक्ष्य (Goal) हैं तो आप उसके अनुसार ही फंड का चुनाव कर सकते हैं। अपने गोल को पूरा करने के लिए जरूरी एसआईपी का चुनाव भी कर सकते हैं। फंड के रिटर्न के अनुसार आपका लक्ष्य पूरा हो सकता हैं या नहीं इस बात का भी जरूर ध्यान रखें। आपका लक्ष्य कोई भी हो सकता हैं जैसे घर खरीदना, कार लेना या कोई अन्य। लक्ष्य निर्धारित करने के बाद निवेश करना कुछ हद तक आसान हो जाता हैं।

एक्सपेंस रेश्यो (Expense Ratio) का ध्यान रखें

म्यूचुअल फंड चलाने वाली कंपनी या एएमसी, फंड को चलाने में आने वाले खर्चे को इन्वेस्टर से वसूलते हैं। अधिक एक्सपेंस रेश्यो मतलब अधिक खर्च या कहें कि अधिक एक्सपेंस रेश्यो होने पर आपको फंड मेनेज करने वाली कंपनी को अधिक रकम चुकानी होगी। जितना कम एक्सपेंस रेश्यो होगा आपके लिए उतना ही फायदेमंद होगा। साथ ही एक्सपेंस रेश्यो की तुलना कैटेगरी एक्सपेंस रेश्यो से जरूर करें।

लंबे समय तक निवेश करें

लंबे समय तक किया गया निवेश काफी हद तक फायदेमंद होता हैं। म्यूचुअल फंड में भी लंबे समय तक निवेश करना अच्छा साबित हो सकता हैं। हालांकि रिटर्न का अनुमान लगाया मुश्किल हैं। फिर भी अधिकतर म्युचुअल फंड ने लंबें समय में अच्छा रिटर्न दिया हैं। जहां तक समय की बात की जाए तो कम से कम तीन साल के लिए निवेश जरूर करें।

SIP को चुनें

म्यूचुअल फंड में एकमुश्त रकम (Lumpsum Amount) के स्थान पर एसआईपी (Systematic Investment Plan) के जरिए निवेश करना अच्छा रहता हैं। एसआईपी के माध्यम से बहुत छोटे अमाउंट से निवेश शुरू किया जा सकता हैं। अपने बजट व लक्ष्य (Goal) के अनुसार ही एसआईपी का चुनाव करें। लंबे समय के लिए छोटी रकम की SIP करके, बड़ी रकम बनाई जा सकती हैं।

जोखिम सीमित रखें

म्यूचुअल फंड में जोखिम को नकारा नहीं जा सकता हैं। रिटर्न के साथ साथ जोखिम भी बना रहता हैं। बहुत से म्यूचुअल फंड ऐसे भी होते हैं जिनमें जोखिम बहुत कम रहता हैं हालांकि ऐसे फंड में रिटर्न भी बहुत कम ही मिलता हैं। इसलिए अधिक रिटर्न पाने के लिए जोखिम भी जरूरी होता हैं। नये निवेशकों के लिए लार्ज कैप वाले म्यूचुअल फंड अच्छा विकल्प हो सकता हैं।

इन्हे भी पढ़ें- स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले हर किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

Zerodha डीमैट खाता शुल्क, अकाउंट ओपनिंग शुल्क, मेंटेनेंस चार्ज, खाता कैसे खोलें?

होम इंश्योरेंस क्या होता हैं | होम इंश्योरेंस कैसे लें | होम इंश्योरेंस के फायदे

अस्वीकरण / Disclaimers
इस पेज में बताई गई जानकारी निवेश के लिए सलाह नहीं हैं।
पैसावालेडाॅटइन कभी भी किसी व्यक्ति को निवेश के लिए प्रेरित नहीं करता हैं। सभी से आग्रह हैं कि निवेश से पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से सलाह जरूर लें।

Leave a Reply