आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान in Hindi, पाॅलिसी टर्म, मैच्योरिटी व मृत्यु लाभ, प्रीमियम कैल्क्युलेटर, फायदें एवं विशेषताएं
आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान एक नाॅन लिंक्ड प्लान हैं। जो ICICI प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस द्वारा मुहैया किया जाता हैं। इस प्लान में मैच्योरिटी अवधि तक प्रीमियम जमा करने की आवश्यकता नहीं होती हैं। प्रीमियम जमा टर्म के लिए कई विकल्प होते हैैं। साथ ही प्रीमियम टर्म के बाद भी बीमा कवरेज मिलता हैं।
यह एक एंडोमेंट प्लान हैं जो सेविंग के साथ साथ बीमा कवरेज भी प्रदान करता हैं। साथ ही यह नाॅन लिंक्ड, नाॅन पार्टिसिपेंट प्लान हैं जिसके कारण जमा रकम को खोने का जोखिम नहीं रहता हैं। और मैच्योरिटी पर गारंटीड रिटर्न मिलता हैं।

ICICI सेविंग सुरक्षा प्लान मुख्य बिंदु

न्यूनतम प्रीमियम₹12000
आयु सीमा0 – 60 वर्ष
मैच्योरिटी आयु18 / 70 वर्ष
पाॅलिसी टर्म10 – 30 वर्ष
प्रीमियम पेमेंट टर्म5 – 30 वर्ष
प्रीमियम जमा विकल्पमासिक
छमाही
वार्षिक

ICICI प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान विकल्प

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ सेविंग सुरक्षा स्कीम के तहत सेविंग व बीमा कवरेज दोनों मिलते हैं। इसके साथ ही प्लान दो तरह से लिया जा सकता हैं।
(A) लिमिटेड पे (Limited Pay)
(B) रेगुलर पे (Regular Pay)

• लिमिटेड पे (Limited Pay) प्लान में 5 वर्ष, 7, वर्ष, 10 वर्ष या 12 वर्ष का प्रीमियम पेमेंट टर्म चुनने का विकल्प होता हैं।
• रेगुलर पे (Regular Pay) प्लान में पाॅलिसी टर्म के बराबर ही प्रीमियम पेमेंट टर्म का विकल्प मिलता हैं।
दोनों प्लान में अधिकतम 30 साल के लिए पाॅलिसी खरीदी जा सकती हैं। तथा दोनों में समान लाभ मिलते हैं।

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान विशेषताएं

पाॅलिसी टर्म (Policy Term)

यह पाॅलिसी न्यूनतम 10 साल व अधिकतम 30 साल के लिए खरीदी जा सकती हैं। पाॅलिसी टर्म के अनुसार प्रीमियम टर्म अलग अलग हो सकती हैं।
प्रीमियम पेमेंट टर्म के अनुसार पाॅलिसी टर्म न्यूनतम 10 वर्ष, 12 वर्ष, 15 वर्ष या 17 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष हो सकती हैं।
आवेदक अपने अनुसार पाॅलिसी टर्म का चुनाव कर सकता हैं।

लिमिटेड पाॅलिसी टर्मपाॅलिसी पेमेंट टर्म
10 से 30 वर्ष5 वर्ष
12 से 30 वर्ष7 वर्ष
15 से 30 वर्ष10 वर्ष
17 से 30 वर्ष12 वर्ष

पाॅलिसी प्रीमियम पेमेंट टर्म (Premium Term)

पाॅलिसी पेमेंट टर्म का चुनाव पाॅलिसी टर्म के अनुसार किया जा सकता हैं। जो न्यूनतम 5 वर्ष व अधिकतम 30 वर्ष के लिए हो सकता हैं-
लिमिटेड पेमेंट टर्म में प्रीमियम पेमेंट टर्म 5, 7 10 या 12 वर्ष हो सकती हैं।
वहीं रेगुलर पेमेंट मोड में पाॅलिसी टर्म के बराबर ही प्रीमियम टर्म होता हैं।

पाॅलिसी प्रीमियम पेमेंट विकल्प (Premium Frequency)

बीमाधारक अपने अनुसार प्रीमियम पेमेंट विकल्प चुन सकता हैं।
इसके तहत वार्षिक, अर्द्ध वार्षिक या मासिक प्रीमियम जमा किया जा सकता हैं।

पाॅलिसी प्रीमियम पेमेंट अमाउंट (Primium Amount)

पाॅलिसी टर्म के अनुसार प्रीमियम अमाउंट का चुनाव किया जा सकता हैं।
रेगुलर पे प्लान में मिनिमम 12000 वार्षिक प्रीमियम जमा करना होगा जबकि लिमिटेड पेमेंट मोड के तहत न्यूनतम प्रीमियम पाॅलिसी टर्म के अनुरूप हो सकता हैं।

पाॅलिसी टर्मन्यूनतम वार्षिक प्रीमियम
10 – 30 वर्ष₹30000
12 – 30 वर्ष₹18000
15 – 30 वर्ष₹12000
17 – 30 वर्ष₹12000

सम एश्योर्ड (Sum Assured)

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत वार्षिक प्रीमियम का 10 गुणा तक मृत्यु सम एश्योर्ड चुना जा सकता हैं। बीमाधारक की प्रवेश उम्र (Entry Age) के अनुसार भी सम एश्योर्ड हो सकती हैं।

प्रवेश उम्रमृत्यु सम एश्योर्ड
45 साल से कमवार्षिक प्रीमियम का 10 गुणा
45 से 54 साल के बीचवार्षिक प्रीमियम का 10 या 7 गुणा
54 साल से अधिकवार्षिक उम्र का 7 गुणा

पेड-अप सुविधा (Paid Up Facility)

प्रीमियम जमा ना कर पाने की स्थिति में पाॅलिसी को पेड अप भी किया जा सकता हैं। इसके लिए कम से कम तीन साल का प्रीमियम जमा होना चाहिए।

फ्री लुक पीरियड (Freelook Period)

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत 15 दिन का फ्री लुक पीरियड मिलता हैं। वहीं पाॅलिसी ऑनलाइन परचेज करने पर फ्री लुक अवधि 30 दिन का हो सकती हैं। इस अवधि के भीतर पाॅलिसी वापस या पाॅलिसी में किसी तरह का बदलाव किया जा सकता हैं। फ्री लुक अवधि के बाद पाॅलिसी को किसी भी रूप में वापिस या बदलाव नहीं किया जा सकता हैं। हालांकि दो वर्ष का प्रीमियम जमा करने के बाद पेड अप पाॅलिसी या सरेंडर किया जा सकता हैं।

ग्रेस पीरियड (Grace Period)

प्रीमियम जमा करने के लिए जमा तिथि से 30 तक का समय ग्रेस पीरियड या ड्यू डेट होता हैं। इस समयावधि में प्रीमियम बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के जमा किया जा सकता हैं। हालांकि ग्रेस पीरियड के बाद प्रीमियम जमा करने पर कुछ शुल्क का भुगतान करना पड़ता हैं।

सरेंडर वैल्यू (Surrender Value)

किसी कारणवश पाॅलिसी बंद करानी पड़ती है तो इसके लिए कम से कम दो साल का प्रीमियम जमा होना चाहिए इसके बाद पाॅलिसी सरेंडर की जा सकती हैं। पाॅलिसी सरेंडर करने पर पाॅलिसी धारक को सरेंडर वैल्यू का भुगतान किया जाता हैं। पाॅलिसी सरेंडर करने पर निम्न में से उच्चतम बीमित व्यक्ति को मिलेगा।
• गारंटीड सरेंडर वैल्यू + गारंटीड उपार्जित गारंटीड एडिशन व वेस्टेड बोनस।
• नाॅन गारंटीड सरेंडर वैल्यू।

लोन सुविधा (Loan Facility)

पैसे की आवश्यकता पड़ने पर आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत लोन भी लिया जा सकता हैं। पाॅलिसी सरेंडर वैल्यू का अधिकतम 80 प्रतिशत लोन लिया जा सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- एसबीआई लाइफ स्मार्ट बचत पॉलिसी, प्रीमियम, इंश्योरेंस प्लान मेच्योरिटी फायदे और विशेषताएं

ICICI सेविंग सुरक्षा स्कीम के फायदें

मैच्योरिटी बेनिफिट्स (Maturity Benefits)

पाॅलिसी अवधि के दौरान बीमित व्यक्ति जीवित रहता है तो मैच्योरिटी पर बीमित व्यक्ति को मैच्योरिटी लाभ मिल सकतें हैं। मैच्योरिटी पर निम्न लाभ प्राप्त किये जा सकते हैैं।
• गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफिट्स (Guaranteed Maturity Benefits)
• उपार्जित गारंटीड एडिशन (Accrued Guaranteed Additions)
• निहित रिवर्सरीरी बोनस (Vested Reversionary Bonus) यदि कोई हो तब।
• टर्मिनल बोनस (Terminal Bonus) यदि कोई हो तब।
पाॅलिसी मैच्योरिटी लाभ, पाॅलिसी टर्म, प्रीमियम, प्रीमियम पेमेंट टर्म, लिंग आदि के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। व सभी प्रीमियम का भुगतान समय पर ना होने या पाॅलिसी पेड अप करने पर भी मैच्योरिटी लाभ अलग हो सकते हैं।

मृत्यु लाभ (Death Benefits)

यदि पाॅलिसी टर्म के दौरान पाॅलिसीधारक की मृत्यु हो जाती हैं तो नामित व्यक्ति को मृत्यु लाभ मिलता हैं। मृत्यु लाभ के रूप में निम्न में से उच्चतम लाभ नामित को दिया जाएगा-
• मृत्यु सम एश्योर्ड + उपार्जित गारंटीड एडिशन व बोनस
• गारंटीड मैच्योरिटी लाभ + उपार्जित गारंटीड एडिशन व बोनस (यदि हो तब)
• न्यूनतम मृत्यु लाभ (न्यूनतम मृत्यु लाभ, मृत्यु तक कुल जमा प्रीमियम का 105 प्रतिशत होगा)
बोनस के रूप में (यदि कोई हो तब) वेस्टेड रिवर्सनरी बोनस, अंतरिम बोनस व टर्मिनल बोनस होंगे।

टैक्स बेनिफिट (Tax Benefit)

बीमित व्यक्ति, पाॅलिसी के दौरान इनकम टैक्स के नियमानुसार टैक्स में छूट मिलने का दावेदार होगा। वहीं आयकर अधिनियम में समय समय पर बदलाव भी किया जा सकता हैं। आयकर नियमों में किसी तरह का बदलाव पूर्ण रूप से आयकर विभाग के अधीन होगा।

ICICI सेविंग सुरक्षा प्लान बोनस रेट

रिवर्सनरी बोनस (Reversionary Bonuses Rate

वित्तीय वर्षलिमिटेड पेमेंट पाॅलिसीरेगुलर पेमेंट पाॅलिसी
20143.50%2.25%
20153.50%2.25%
20163.25%2.00%
20173.00%1.75%
20183.00%1.75%
20193.00%1.75%
20203.00%1.75%

टर्मिनल बोनस रेट (Terminal Bonus Rate)

टर्मिनल बोनस सिर्फ एक बार दिया जाने वाला बोनस हैं। जो पाॅलिसी परिपक्व होने पर दिया जाता हैं। यह सम एश्योर्ड का कुछ प्रतिशत होता हैं। पाॅलिसी कंपनी द्वारा घोषित किया जाता है कि पाॅलिसीधारक / नामित को कितना प्रतिशत टर्मिनल बोनस मिलेगा।
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत कोई टर्मिनल बोनस घोषित नहीं किया गया है।

इसे भी पढ़ें- पोस्ट ऑफिस डबल मनी स्कीम इंटरेस्ट रेट, अवधि, फायदे एवं विशेषताएं

ICICI सेविंग सुरक्षा प्लान बेनिफिट्स कैल्कुलेशन

बीमा पॉलिसी लेने से पहले सभी को यह चिंता रहती हैं कि पाॅलिसी में किस तरह से फायदा होगा कितना रिटर्न मिलेगा। इसके साथ ही पाॅलिसी बेनिफिट्स की गणना जरूर करनी चाहिए। पाॅलिसी परिपक्व होने पर 4 प्रतिशत या 8 प्रतिशत रिटर्न मिल सकता है। मैच्योरिटी पर कई तरह के फायदे मिल सकते हैं।

सेविंग सुरक्षा प्लान लिमिटेड पे बेनिफिट्स

यदि कोई 35 वर्ष का व्यक्ति आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत 20 वर्ष के लिए पाॅलिसी खरीदता हैं जिसका लिमिटेड पेमेंट वार्षिक प्रीमियम 30000 हजार रूपए हैं तो इस स्थिति में पाॅलिसी परिपक्व होने पर निम्न लाभ मिल सकते हैं-
बीमित व्यक्ति की उम्र: 35 वर्ष
पाॅलिसी मैच्योरिटी अवधि: 20 वर्ष
प्रीमियम पेमेंट अवधि: 10 वर्ष
वार्षिक प्रीमियम: 30000 रूपए
प्रीमियम पेमेंट मोड: वार्षिक
मृत्यु पर बीमित रकम: 300000 रूपए

बेनिफिट्स4% बेनिफिट8% बेनिफिट
गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफिट्स (A)₹303336₹303336
गारंटीड एडिशन (B)₹75834₹75834
एस्टिमेटेड वेस्टेड रिवर्सनरी बोनस (C)₹0₹193715
एस्टिमेटेड टर्मिनल बोनस (D)₹68118₹148730
एस्टिमेटेड मैच्योरिटी बेनिफिट्स
(A+B+C+D)
₹447288₹721616

सेविंग सुरक्षा प्लान रेगुलर पे मैच्योरिटी बेनिफिट्स

पाॅलिसी रेगुलर पेमेंट के तहत कोई 35 वर्ष का व्यक्ति आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान 20 वर्ष के लिए खरीदता हैं जिसका रेगुलर पेमेंट वार्षिक प्रीमियम 30000 हजार रूपए हैं तो इस स्थिति में पाॅलिसी परिपक्व होने पर निम्न लाभ मिल सकते हैं-
बीमित व्यक्ति की उम्र: 35 वर्ष
पाॅलिसी मैच्योरिटी अवधि: 20 वर्ष
प्रीमियम पेमेंट अवधि: 20 वर्ष
वार्षिक प्रीमियम: 20000 रूपए
प्रीमियम पेमेंट मोड: वार्षिक
मृत्यु पर बीमित रकम: 200000 रूपए

बेनिफिट्स4% बेनिफिट8% बेनिफिट
गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफिट्स (A)₹368256₹368256
गारंटीड एडिशन (B)₹92064₹92064
एस्टिमेटेड वेस्टेड रिवर्सनरी बोनस (C)₹0₹118049
एस्टिमेटेड टर्मिनल बोनस (D)₹55814₹157312
एस्टिमेटेड मैच्योरिटी बेनिफिट्स
(A+B+C+D)
₹516134₹735682

पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria)

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत कोई भी भारतीय पाॅलिसी खरीद सकता हैं। इसके लिए सिर्फ उम्र की पात्रता को पूरा करना होता हैं।
• 0 से 18 वर्ष के नाबालिग भी प्लान के लिए पात्र हैं इनके ओर से अभिभावक पाॅलिसी खरीद सकते हैं।
• प्लान में प्रवेश उम्र अधिकतम 60 वर्ष हैं।

आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

  • आवेदन फार्म
  • आयु का प्रमाण
  • मेडिकल सर्टिफिकेट
  • KYC दस्तावेज
  • पते का प्रमाण
  • फोटोग्राफ।

ICICI प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान नियम एवं शर्तें

  • आत्महत्या की स्थिति में यदि पाॅलिसी धारक एक साल के भीतर आत्महत्या कर लेता है तो नामित व्यक्ति को कुल जमा प्रीमियम का 80 प्रतिशत या सरेंडर रकम (जो भी ज्यादा हो) मिलेगी तथा पाॅलिसी वहीं बंद कर दी जाएगी।
  • यदि पाॅलिसी धारक फ्री लुक अवधि के दौरान पाॅलिसी वापिस करता हैं तो पाॅलिसी धारक को कुल जमा प्रीमियम वापिस किया जाएगा जबकि लागू टैक्स वापिस नहीं होगा।
  • पाॅलिसीधारक को टैक्स में लाभ आयकर नियमों के अनुसार मिलेगा। आयकर नियमों में समय समय पर बदलाव भी संभव हैं। टैक्स में छूट के लिए बीमा कंपनी उत्तरदायी नहीं होगी।
  • सेक्शन 41 इंश्योरेंस अधिनियम 1938 के अनुसार कोई भी बीमित व्यक्ति अपनी पाॅलिसी को किसी अन्य व्यक्ति को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से ट्रांसफर नहीं कर सकता हैं। कोई अन्य व्यक्ति किसी भी रूप में पाॅलिसी को रिन्यु या आगे संचालित नहीं कर सकता हैं।
  • पाॅलिसी धारक द्वारा किसी भी तरह की धोखाधड़ी करने पर या गलत प्रतिनिधित्व करने पर सरेंडर वैल्यू का भुगतान कर पाॅलिसी बंद कर दी जाएगी।
  • प्रीमियम जमा ना कर पाने पर बीमित व्यक्ति पांच साल के भीतर दोबारा से प्रीमियम जमा करके पाॅलिसी जारी रख सकता हैं।
  • लगातार पांच साल तक प्रीमियम जमा ना कर पाने की स्थिति में पॉलिसी धारक को सरेंडर वैल्यू दी जाएगी।
  • प्रीमियम जमा ना पाने व पॉलिसी सरेंडर वैल्यू उपार्जित ना कर पाने की स्थिति में पॉलिसी धारक को कोई लाभ नहीं दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- बिटकॉइन इंडिया में लीगल है या नहीं, भारत में क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य 2022 में क्या होगा?

एंडोमेंट पाॅलिसी लेते समय ध्यान रखने योग्य बातें

एंडोमेंट प्लान लेते समय कुछ जरूरी बातें हैं जिनके बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी होता हैं। क्योंकि जानकारी के अभाव में भविष्य में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता हैं-

  • एंडोमेंट प्लान कोई निवेश का माध्यम नहीं हैं। यह सिर्फ एक साधारण बचत का माध्यम है इसलिए यदि आप अपनी वर्तमान की कमाई को भविष्य के लिए सिर्फ बचत या इकठ्ठा करना चाहते हैं तो आप एंडोमेंट प्लान में पैसा जमा कर सकते हैं।
  • यदि आप अपनी वर्तमान की कमाई को निवेश करके भविष्य में रिटर्न या मुनाफा चाहते हैं तो आपके लिए एंडोमेंट प्लान उचित नहीं होगा।
  • हालांकि Endowment Plan के साथ बीमा भी दिया जा सकता है जिसके तहत भविष्य में आप अपने परिवार को वित्तीय सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं
  • आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान के तहत सिर्फ मृत्यु लाभ प्रदान किया जाता हैं। जबकि दुर्घटना में मृत्यु होने या पूर्ण विकलांगता होने पर अतिरिक्त लाभ नहीं मिलता हैं।
  • एंडोमेंट प्लान में सिर्फ सम एश्योर्ड ही गारंटीड रिटर्न के रूप में होता हैं।
  • क्योंकि सम एश्योर्ड कुल प्रीमियम की रकम के बराबर ही होता हैं। इसलिए कह सकते हैं कि एंडोमेंट प्लान सिर्फ बचत का माध्यम होता हैं।
  • एंडोमेंट प्लान में मुनाफा बोनस के रूप में मिलता हैं जिसका मतलब है कि इसकी कोई गारंटी नहीं है कि आपको कितना मुनाफा होगा। बोनस ‘कंपनी के मुनाफे’ के आधार पर तय किया जाता हैं यदि प्लान की मेच्योरिटी के समय पाॅलिसी कंपनी को मुनाफा होता है तो वह अपने ग्राहकों के लिए बोनस दे सकती हैं अन्यथा बोनस को कम या खत्म भी किया जा सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- होम लोन Insurance क्या हैं, होम लोन प्रोटेक्शन प्लान कैसे लें, होम लोन इंश्योरेंस के फायदें

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान FAQs

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान की मैच्योरिटी अवधि कितनी हैं?

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान की परिपक्व अवधि (Maturity) न्यूनतम 10 साल व अधिकतम 30 साल होती हैं।

ICICI प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान में न्यूनतम प्रवेश उम्र कितनी है?

ICICI प्रूडेंशियल सेविंग सुरक्षा प्लान में प्रवेश उम्र (Entry Age) 0 वर्ष व अधिकतम 60 वर्ष हैं।

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा पाॅलिसी न्यूनतम वार्षिक प्रीमियम कितना होता हैं?

न्यूनतम वार्षिक प्रीमियम 12 हजार रूपए हैं। हालांकि प्रीमियम टर्म के आधार पर प्रीमियम अमाउंट अधिक हो सकती हैं।
• 5 वर्ष प्रीमियम टर्म के लिए न्यूनतम वार्षिक प्रीमियम 30000 रूपए होता हैं।
• 7 वर्ष प्रीमियम टर्म के लिए न्यूनतम वार्षिक प्रीमियम 18000 रूपए होता हैं।
• 10 वर्ष या अधिक प्रीमियम टर्म के लिए न्यूनतम वार्षिक प्रीमियम 12000 रूपए होता हैं।

ICICI सेविंग सुरक्षा प्लान में प्रीमियम पेमेंट विकल्प कौन-कौन से हैं?

इस प्लान में प्रीमियम पेमेंट के लिए लिमिटेड पे व रेगूलर पे विकल्प मौजूद हैं। रेगुलर पे में पाॅलिसी टर्म के बराबर ही प्रीमियम टर्म हैं जबकि लिमिटेड पे में 5 वर्ष, 7 वर्ष व 10 वर्ष प्रीमियम टर्म विकल्प है।

इस योजना में मृत्यु लाभ कितना होगा?

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा योजना में मृत्यु लाभ हैं-
• सम एश्योर्ड + उपार्जित (Accrued) एडिशन व बोनस
• गारंटीड मैच्योरिटी बेनिफिट्स + उपार्जित (Accrued) एडिशन व बोनस
• कुल जमा प्रीमियम का 105 प्रतिशत
इनमें से जो भी अधिकतम होगा वही नामित व्यक्ति को दिया जाएगा।

इन्हें भी पढ़ें- SBI मंथली इनकम प्लान इंटरेस्ट रेट, स्कीम अवधि, फायदे व विशेषताएं

पोस्ट ऑफिस आरडी (Reccuring Deposit) स्कीम क्या हैं, इसमें कितना लाभ होता हैं

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले हर किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

Leave a Reply