म्युचुअल फंड में पैसा कब लगाएं, Mutual Fund में कब निवेश करें, Mutual Funds Mein Nivesh Kaise Kare
Mutual Fund में पैसा कब लगाएं

म्युचुअल फंड में पैसा कब और कैसे लगाएं? यदि आपका भी यही सवाल हैं तो आप इस पोस्ट में म्युचुअल फंड में निवेश के लिए सही समय के बारे में जान सकते हैं।
औसत कमाई के साथ आपके जीवन की रोजमर्रा की छोटी जरूरतें तो पूरी हो सकती हैं। मगर कोई बड़ी जरूरतें या बड़ा लक्ष्य को पूरा करना मुश्किल हो सकता हैं। इसलिए फाइनेंशियल लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निवेश करना बहुत जरूरी होता हैं।
यदि आपके पास इन्वेस्टमेंट से जुड़ी पर्याप्त जानकारी हैं तो आपके लिए निवेश करने के बहुत से विकल्प हो सकते हैं जैसे- शेयर बाजार, रियल एस्टेट, गोल्ड, क्रिप्टोकरेंसी आदि। मगर जानकारी के अभाव में निवेश करना अधिक जोखिम भरा हो सकता हैं। इस लिहाज से म्युचुअल फंड अन्य की तुलना में अधिक सुरक्षित माना जा सकता हैं। हालांकि म्युचुअल फंड में निवेश के लिए भी कुछ महत्वपूर्ण बातें हैं जिनका आपको ध्यान रखना जरूरी होता हैं।

म्युचुअल फंड में पैसा कब लगाएं?

ऐसा कोई निश्चित नियम या समय नहीं हैं जिसके अनुसार म्युचुअल फंड में निवेश के लिए सही समय का चुनाव किया जा सके। निवेश करने पर आपको सही समय का इंतजार नहीं करना हैं। क्योंकि लंबे समय के लिए निवेश करने पर आपको बाजार के सभी स्थितियों (अप एंड डाॅउन) का सामना करना हैं। इसलिए बाजार की स्थिति कैसी भी हो आप निवेश शुरू कर देना चाहिए। क्योंकि परफेक्ट समय के इंतजार में समय बीतता जाता हैं और निवेश के लिए परफेक्ट समय कभी आता ही नहीं है।
इसके बाद भी कुछ मुख्य कारक हैं जिनको ध्यान में रखकर म्युचुअल फंड में निवेश करना अच्छा माना जा सकता हैं।

अपना लक्ष्य निर्धारित करें

अपना लक्ष्य (Goal) निर्धारित करें व उसे हासिल करने में लगने वाले समय को भी ध्यान में रखें। लक्ष्य को समय पर हासिल कर सकें इसके लिए समय रहते इन्वेस्टमेंट शुरू कर देनी चाहिए। क्योंकि समय बीत जाने पर आप निश्चित समय पर अपना लक्ष्य हासिल करने से चूक जाएंगे। इसलिए इन्वेस्टमेंट के लिए समय रहते ही शुरूआत कर देनी चाहिए। जिससे आप लक्ष्य तक आसानी से पहुंच सकें।

इसे भी पढ़ें- सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूच्यूअल फण्ड 2022, अधिक रिटर्न के लिए क्या करें?

न्यूनतम एनएवी का चुनाव करें

बहुत से निवेशकों, खासकर नये निवेशकों के मन में दुविधा रहती हैं कि आखिर म्युचुअल फंड में पैसा कब लगाना चाहिए। वैसे इसके लिए कोई भी समय अच्छा या खराब नहीं होता हैं। फिर भी फंड की उच्चतम एनएवी की तुलना में कम एनएवी का चुनाव अच्छा माना जाता हैं।
जिस तरह स्टाॅक के शेयर का प्राइस होता हैं उसी तरह फंड के एक यूनिट की कीमत होती हैं जिसै एनएवी कहा जाता हैं।
स्टाॅक के उच्च स्तर पर निवेश की शुरुआत करना अच्छा नहीं होता हैं उसी तरह फंड की उच्च एनएवी पर फंड में निवेश की शुरुआत करना अच्छा नहीं होता हैं।

सेंसेक्स सूचकांक का ध्यान रखें

खासकर लार्ज कैप फंड में सेंसेक्स सूचकांक के अनुसार म्युचुअल फंड में सही समय का चुनाव कर सकते हैं। जब सेंसेक्स सूचकांक नीचे हो तब आप म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं। ऐसा करने पर आप कम रकम में अधिक यूनिट पा सकते हैं। और जब बाजार की स्थिति पहले से बहतर होगी तो आपको बहुत फायदा मिल सकता हैं। यह बिल्कुल शेयर खरीदने जैसा ही हैं। स्टाॅक में गिरावट होने पर आप शेयरों की खरीदारी करते हैं और जब शेयरों का प्राइस बढ़ता हैं तो आपको फायदा मिलता हैं।

इसे भी पढ़ें- सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले शेयर, करोड़पति बनाने वाले मल्टीबैगर स्टाॅक

म्युचुअल फंड में निवेश कैसे करें?

आज के समय में हर कोई म्युचुअल फंड में निवेश के लिए उत्सुक हैं। मगर मन में हमेशा संका रहतीं हैं कि आखिर म्युचुअल फंड में किस तरह निवेश करें। म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए आप निम्न बातों पर विचार कर सकते हैं-

एसआईपी बहतर विकल्प हो सकता हैं

निवेशक अपने अनुसार एकमुश्त रकम (Lumpsum Amount) या एसआईपी (Systematic Investment Plan) का चुनाव कर सकता हैं।
इसके लिए आप अपने जोखिम लेने की क्षमता, लक्ष्य को प्राप्त करने के अनुसार इन्वेस्टमेंट के तरीके का चयन कर सकते हैं।
एकमुश्त रकम निवेश करने पर रिटर्न अधिक मिल सकता हैं हालांकि जोखिम भी संपूर्ण निवेशित रकम पर बना रहता हैं।
हर महीने अपनी कमाई का कुछ अंश एसआईपी के माध्यम से निवेश करना बहतर हो सकता हैं। इससे आप थोड़ा-थोड़ा अमाउंट जमा करके बड़ी रकम इकट्ठा कर सकते हैं। साथ ही कुछ समय बाद आपको म्युचुअल फंड के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त होगी। जिसके बाद आप और अधिक रकम को भी निवेश कर सकते हैं।

ऐप का चुनाव कर सकते हैं

म्युचुअल फंड या स्टाॅक मार्किट में निवेश के लिए बहुत से प्लेटफार्म मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल करके निवेश किया जा सकता हैं।
इनमें से ऐप का इस्तेमाल करना आसान होता हैं। ऐप के माध्यम से निवेश की सारी प्रक्रिया बहुत सरल हो जाती हैं। आप एक ही प्लेटफार्म से म्युचुअल फंड व स्टाॅक बाजार दोनों में निवेश कर सकते हैं। बहुत से ऐप मौजूद हैं मगर इनमें से सबसे बहतर ऐप Groww App हैं। इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है व म्युचुअल फंड के लिए किसी भी तरह का शुल्क नहीं चुकाना पड़ता हैं। आप आसानी से बिना किसी शुल्क का भुगतान किये निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। बहुत से ऐप म्युचुअल फंड व स्टाॅक बाजार में निवेश करने पर कुछ शुल्क वसूलते हैं। मगर Groww ऐप इन सबके लिए बिल्कुल फ्री हैं। तो आप इसका इस्तेमाल कर आसानी से अपने इन्वेस्ट की शुरुआत कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- Zerodha डीमैट खाता शुल्क, अकाउंट ओपनिंग शुल्क, मेंटेनेंस चार्ज, खाता कैसे खोलें?

लंबे समय के लिए निवेश करें

आप जितना भी अमाउंट निवेश करना चाहते हैं। उसे लंबे समय के निवेश करें। क्योंकि म्युचुअल फंड में समय के साथ रिटर्न में बढ़ोतरी होती हैं। छोटी अवधि में रिटर्न की संभावना कम होती हैं जबकि लंबे समय में अधिक रिटर्न की उम्मीद की जा सकती हैं। हालांकि बाजार के उतार चढ़ाव के कारण लंबे समय में भी रिटर्न को निश्चित नहीं किया जा सकता हैं। यदि बाजार की स्थिति लंबे समय तक ख़राब बनीं रहतीं हैं तो लंबी अवधि में भी लाभ मिलना मुश्किल हैं। हालांकि पिछले कुछ वर्षों से देखा जाए तो अधिकतर फंड्स ने लंबे समय अच्छा रिटर्न दिया हैं। जिसको देखते हुए लंबे समय तक निवेश कर अच्छा हो सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले हर किसी को क्या सावधानी रखनी चाहिए?

आईसीआईसीआई सेविंग सुरक्षा प्लान, प्रीमियम, मेच्योरिटी फायदे एवं विशेषताएं

पेटीएम पर्सनल लोन कैसे लें | पेटीएम से पर्सनल लोन लेने का तरीका क्या हैं?

Leave a Reply