सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयर, अच्छे शेयरों में गिरावट, शेयर खरीदने का अच्छा समय
सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयर

सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयर: आरबीआई के द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी का ऐलान करने, महंगाई बढ़ने व अन्य कारणों से बाजार में काफ़ी ज़्यादा गिरावट देखने को मिली हैं। बाजार में लगातार बिकवाली का माहौल बना हुआ हैं। सिर्फ भारतीय निवेशक ही नहीं बल्कि विदेशी निवेशकों में भी भारतीय बाजार में बिकवाली का दबाव बढ़ा हैं। पिछले एक माह से लगातार सेंसेक्स और निफ्टी सूचकांक में गिरावट जारी है। हालांकि बैंक निफ्टी में कुछ सुधार होता हुआ नजर आ रहा हैं। फिर भी पिछले एक माह के प्रदर्शन को देखें तो बैंक निफ्टी में भी लगभग 7 फीसदी की गिरावट आई हैं।

पिछले एक माह में सेंसेक्स सूचकांक में तकरीबन 4535.98 अंक की गिरावट आई हैं। वहीं निफ्टी50 भी 1382.60 अंक नीचे आ चुका हैं। बैंक निफ्टी में 2631.15 अंक की कमी आई हैं। पिछले कारोबारी दिन 11 मई 2022 को सेंसेक्स 54,088.39 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 50 और निफ्टी बैंक क्रमशः 16,167.10 और 34,693.15 अंक पर बंद हुए। यह गिरावट सिर्फ भारतीय शेयर बाजार में ही नहीं बल्कि विदेशी बाजारों में भी देखने को मिली हैं। इस दौरान हम आपको कुछ ऐसे स्टाॅक के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनमें सबसे ज्यादा गिरावट आई हैं।

सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयर लिस्ट

इस मंदी के दौरान सबसे ज्यादा गिरने वाले शेयर- हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनजर्व, विप्रो लिमिटेड, अपोलो हॉस्पिटल, जेएसडब्ल्यू स्टील, टाईटन कंपनी, टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, टेक महिंद्रा आदि हैं। इन सभी स्टाॅक में पिछले एक महीने से सबसे ज्यादा गिरावट दर्ज हुई हैं।
जहां एक तरफ बाजार की स्थिति बेहद खराब हैं वहीं दूसरी ओर यह कम कीमत में मजबूत कंपनियों के शेयर खरीदने का अच्छा मौका भी हो सकता हैं।

हिंडाल्को इंडस्ट्रीज लिमिटेड 30 फीसदी गिरावट

इस स्टाॅक में सबसे ज्यादा गिरावट देखने को मिली हैं। एक माह में यह लगभग 30 फीसदी टूटा हैं। 12 अप्रैल 2022 को इसकी कीमत 542.35 रूपए थी जबकि एक महीने बाद 12 मई 2022 में शेयर की कीमत में 144 रूपए की कमी हुई हैं। अपने 52 हफ्ते के निचले स्तर से केवल 40 रूपए ऊपर कारोबार कर रहा हैं। इसका पिछले 52 हफ्ते का हाई 636 रूपए था। जबकि वर्तमान कीमत हाई लेवल से 37 फीसदी कम हैं। इसका मौजूदा मार्किट कैप 94,630 करोड़ रुपए का हैं। वहीं रिटर्न ऑन इक्विटी 8.30 फीसदी हैं। लंबी अवधि के लिए इस स्टाॅक में निवेश किया जा सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- मल्टीबैगर शेयर लिस्ट: 5 दिन में दिया 63.23 फीसदी का दमदार रिटर्न

बजाज फाइनेंस लिमिटेड: 23 फीसदी गिरावट

बजाज फाइनेंस लिमिटेड के शेयरों में भी बिकवाली का दबाव बना हुआ हैं। बीते एक महीने में शेयर प्राइस में 23 फीसदी से ज्यादा गिरावट आई हैं। इतना ही नहीं पिछले एक हफ्ते के कारोबार में लगभग 12.50 फीसदी लुढकर शेयर प्राइस 5613 रूपए पर आ गया हैं। एक हफ्ते के दौरान शेयर की कीमत में लगभग 804 रूपए की गिरावट आई हैं।
स्टाॅक 52 हफ्ते के निचले स्तर के करीब आता हुआ नजर आ रहा हैं। पिछले 52 वीक के दौरान स्टाॅक का हाई 8050 था जबकि निम्नतम स्तर 5267 रूपए रहा हैं। इस तरह देखा जाए तो यह शेयर 52 वीक के हाई से लगभग 30 फीसदी टूटा हैं।

बजाज फिनजर्व लिमिटेड: 22% गिरावट

बजाज फाइनेंस की तरह ही बजाज फिनजर्व का भी हाल रहा हैं। यह स्टाॅक पिछले एक महीने से तकरीबन 22 फीसदी फिसला हैं। जबकि पिछले एक हफ्ते के कारोबारी दिनों में लगभग 11 फीसदी लुढ़का हैं।
वर्तमान में स्टाॅक ₹12,916 के करीब कारोबार कर रहा हैं। इस स्टाॅक का हाल पिछले छः महीने से ख़राब रहा हैं। पिछले छः महीने में इसमें करीब 30 फीसदी की कमी आई हैं।
स्टाॅक ने पिछले 52 वीक में ₹19,325 का हाई मारा हैं जबकि इसी दौरान ₹10,868 तक नीचे आया हैं।
52 वीक के हाई लेवल से स्टाॅक करीब 33 फीसदी से ज्यादा नीचे गिरा हैं। इसका मौजूदा मार्किट कैप ₹2,12,090 करोड़ का हैं। वहीं रिटर्न ऑन इक्विटी 11.98 फीसदी हैं। ऐसे स्टाॅक में, शेयर बाजार विशेषज्ञ इस समय शेयर बाजार में लंबे समय के लिए निवेश की सलाह दे रहे हैं। हालांकि छोटी अवधि के लिए निवेश करना अधिक जोखिम भरा हो सकता हैं।

इसे भी पढ़ें- सिप इन्वेस्टमेंट बेस्ट प्लान: मिड कैप म्युचुअल फंड में निवेश के लिए अच्छा समय

अपोलो हॉस्पिटल्स इंटरप्राइज 23% गिरावट

अपोलो हॉस्पिटल्स इंटरप्राइज के शेयर में पिछले एक महीने में लगभग 23 प्रतिशत गिरावट के साथ ₹3610 पर कारोबार कर रहा हैं। जबकि पिछले एक सप्ताह के दौरान शेयर की कीमत में 10.50 प्रतिशत की कमी आई है।
इसका मौजूदा मार्किट कैप ₹52,909 करोड का हैं। वर्ष 2020 की तुलना में वर्ष 2021 में कंपनी का प्राॅफिट काफी कम हुआ हैं।
इस स्टाॅक ने पिछले 52 सप्ताह के दौरान ₹5935 के हाई को छुआ हैं जबकि पिछले 52 सप्ताह का निचला स्तर ₹3095 रहा हैं।
52 सप्ताह के हाई की तुलना में यह स्टाॅक 40 फीसदी तक टूटा हैं। हालांकि इसका पिछले तीन साल का रिटर्न शानदार रहा है। पिछले तीन साल के दौरान इस स्टाॅक ने 200 फीसदी से ज्यादा मुनाफा इन्वेस्टर्स को दिया हैं।

इसे भी पढ़ें- टाॅप 5 इक्विटी स्माॅल कैप म्यूचुअल फंड जो 2022 में निवेश के लिए बहतर हो सकतें हैं

जेएसडब्ल्यू स्टील लिमिटेड 18 फीसदी गिरावट

जेएसडब्ल्यू स्टील लिमिटेड कंपनी के शेयरों की कीमत में भी काफी कमी आई हैं। अप्रैल 2020 से लेकर अप्रैल 2021 तक इस स्टाॅक ने अपने निवेशकों को काफी अच्छा मुनाफा दिया हैं। इस दौरान इसका रिटर्न 300 फीसदी से भी ज्यादा रहा। मगर हाल ही में यह स्टाॅक जबरदस्त गिरावट का शिकार हो रहा हैं। पिछले एक महीने में इस स्टाॅक में तकरीबन 19 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई हैं। इतना ही नहीं केवल एक हफ्ते के दौरान यह स्टाॅक 13.40 फीसदी नीचे जा चुका हैं। स्टाॅक ने पिछले 52 हफ्ते के दौरान हाई लेवल ₹790 बनाया हैं जबकि इसी दौरान यह स्टाॅक ₹566 तक नीचे भी गया हैं। स्टाॅक मौजूदा समय में ₹625 के स्तर पर कारोबार कर रहा हैं।
पिछले 52 हफ्ते के हाई लेवल से स्टाॅक तकरीबन 20 फीसदी नीचे गिर चुका हैं।

स्टाॅक मार्किट विशेषज्ञों का मानना हैं कि बाजार में जबरदस्त मंदी छाई हुई हैं और यह आने वाले कुछ दिनों के लिए बरकरार भी रह सकती हैं। ऐसे समय में लंबी अवधि के लिए निवेश करना अच्छा होगा जबकि छोटी अवधि के निवेश पर जोखिम अधिक हो सकता हैं।
विशेषज्ञों का कहना हैं कि अच्छे स्टाॅक में नीचे के लेवल पर खरीदारी करने का यह अच्छा मौका भी हो सकता हैं। खासकर छोटे निवेशकों के लिए यह समय धैर्य रखने का हैं। न कि जल्दबाजी में गलत फैसला लेने का।

इसे भी पढ़ें- म्यूचुअल फंड में पैसा कब और कैसे लगाएं, ऐसा करने पर मिल सकता हैं ज्यादा रिटर्न

टाटा ग्रुप का सबसे सस्ता शेयर, जो 2022 में दें सकता हैं अच्छा रिटर्न

कम सिबिल स्कोर पर कैसे लोन लें | खराब क्रेडिट स्कोर होने पर भी ऐसे मिलेगा लोन

डिस्क्लेमर: इस पेज में बताएं गये सुझाव, शेयर बाजार विशेषज्ञों के अपने विचार हैं। इसकी पुष्टि पैसावालेडाॅटइन नहीं करता हैं।
निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श ज़रूर लें। किसी भी लाभ या हानि का जिम्मेदार पैसावालेडाॅटइन नहीं होगा।

Leave a Reply